डीसीबी अध्यक्ष प्रदीप चौधरी और मंडी समिति अध्यक्ष ने एक एक लाख रुपये सीएम राहत कोष में दिए, कहा सभी को अपनी सामर्थ्य के अनुसार राष्ट्रीय योगदान करना चाहिए

Must Read

बॉन्ड से गन्ना खरीद पर विभाग ने फिर लगाई रोक

लक्सर से भाजपाईयों की मांग पर गन्ना राज्यमंत्री के नए आदेश के बाद गन्ना विभाग ने बॉन्ड से...

पुलिस को आया देख स्कूटी छोड़ भागे हमलावर

सभासद की दुकान पर उनके चचेरे भाई से दूसरे युवक की कहासुनी हो गई। बाद में युवक ने...

आग लगने से गेहूं और गन्ने की फसल जली

लक्सर क्षेत्र में गेहूं के खेत में लगी आग। - फोटो : ROORKEE ख़बर सुनें ख़बर सुनें क्षेत्र के...

रुड़की । जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष प्रदीप चौधरी और कृषि उत्पादन मंडी समिति भगवानपुर के अध्यक्ष मनोज कपिल ने एक-एक लाख रुपए सीएम राहत कोष में दिए हैं। इनके द्वारा आज देहरादून जाकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को चेक सौंपे गए। मुख्यमंत्री ने डीसीबी और मंडी समिति अध्यक्ष का आभार व्यक्त किया है। जानकारी के लिए बता दें कि जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी साढे़ ₹800000 बैंक की ओर से पहले ही सीएम राहत कोष में दे चुके हैं।

जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने कहा कि सभी को अपनी सामर्थ्य के अनुसार राष्ट्रीय योगदान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए वह अपने अन्य साथियों को भी प्रेरित करेंगे। वहीं दूसरी ओर एसडीएम लक्सर पूरण सिंह राणा ने अपने वेतन से 50 हजार रुपये का ड्राफ्ट बनवाकर मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कराया है। उनका कहना है कि सरकार आमजन को कई सुविधाएं और अधिकार मुहैया कराती है। आज मानव को बचाने के लिए सरकारी कोष में मदद की जरूरत है। ऐसे में हर किसी को अपनी सामर्थ्य के मुताबिक सहयोग करना चाहिए।

 

Leave a Reply

Latest News

बॉन्ड से गन्ना खरीद पर विभाग ने फिर लगाई रोक

लक्सर से भाजपाईयों की मांग पर गन्ना राज्यमंत्री के नए आदेश के बाद गन्ना विभाग ने बॉन्ड से...

पुलिस को आया देख स्कूटी छोड़ भागे हमलावर

सभासद की दुकान पर उनके चचेरे भाई से दूसरे युवक की कहासुनी हो गई। बाद में युवक ने अपने साथियों को बुलवा लिया...

आग लगने से गेहूं और गन्ने की फसल जली

लक्सर क्षेत्र में गेहूं के खेत में लगी आग। - फोटो : ROORKEE ख़बर सुनें ख़बर सुनें क्षेत्र के दो अलग-अलग स्थानों पर आग...

अपराध संक्षेप

आरोप है कि ब्रैड पकोड़े लेने आए एक सिपाही ने 45 रुपये की जगह 30 रुपये दिए। बाद में जिरह के...

डीआईजी ट्रैफिक के आदेश पर ‘ग्रीन’ नहीं हुए सिग्नल

रुड़की में बंद पड़ी ट्रैफिक लाइटें। - फोटो : ROORKEE ख़बर सुनें ख़बर सुनें डीआईजी ट्रैफिक केवल खुराना निर्देश के छह माह बाद भी...

More Articles Like This