आईआईटी रुड़की ने क्लाउडएक्सलैब डॉट कॉम पर शुरू किया डीप लर्निंग कोर्स, वैश्विक मंदी से निपटने के लिए तकनीकी कौशल की आवश्यकता को देखते हुए किया गया है यह प्रयोग

Must Read

बॉन्ड से गन्ना खरीद पर विभाग ने फिर लगाई रोक

लक्सर से भाजपाईयों की मांग पर गन्ना राज्यमंत्री के नए आदेश के बाद गन्ना विभाग ने बॉन्ड से...

पुलिस को आया देख स्कूटी छोड़ भागे हमलावर

सभासद की दुकान पर उनके चचेरे भाई से दूसरे युवक की कहासुनी हो गई। बाद में युवक ने...

आग लगने से गेहूं और गन्ने की फसल जली

लक्सर क्षेत्र में गेहूं के खेत में लगी आग। - फोटो : ROORKEE ख़बर सुनें ख़बर सुनें क्षेत्र के...

रुड़की । कोविड-19 से बचाव हेतु लगाए गए देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान युवाओं के कौशल विकास और ई-लर्निंग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आईआईटी रुड़की ने उह्णङ्म४७िह्णुं.ूङ्मे (क्लाउडएक्सलैब डॉट कॉम) पर डीप लर्निंग का एडवांस सर्टिफिकेशन कोर्स शुरू किया है। यह प्रयोग वर्तमान आर्थिक संकट के मद्देनजर किया गया है जो वैश्विक मंदी से निपटने के लिए तकनीकी कौशल के महत्व को रेखांकित करता है। इसकी शुरूआत आईआईटी रुड़की और अमेरिका स्थित एड-टेक कंपनी क्लाउडएक्सलैब डॉट कॉम के बीच मेमोरेंडम आॅफ अंडरस्टैंडिंग (टङ्मव) पर हस्ताक्षर करने के बाद हुई है, जिसके बाद इंस्ट्रक्टर-लेड (्रल्ल२३१४ू३ङ्म१-ह्णी)ि और सेल्फ-पेस्ड (२ीह्णा-स्रंूी)ि एग्जीक्यूटिव आॅनलाइन कोर्स की सीरीज चलाई जा रही है । आईआईटी रुड़की के डायरेक्टर प्रो. अजित के. चतुवेर्दी ने कहा कि ह्लकोविड-19 के चलते देशव्यापी लॉकडाउन लगाया गया है। यह युवाओं के साथ-साथ अन्य लोगों के लिए भी सबसे अच्छा समय है जो अतिरिक्त स्किल हासिल करना चाहते हैं। यह पहल उन यूजर्स के लिए आकर्षक होगी जो तकनीकी क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करने का लक्ष्य रखते हैं। उह्णङ्म४७िछुं.ूङ्मे के साथ साझेदारी उद्योग की जरूरतों के अनुरूप नवीनतम जानकारियों की पेशकश करने के लिए हमारी पहुंच को बढ़ाएगी। इस कोर्स को पूर्व से मौजूद कोर्स जैसे कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, डेटा साइंस आदि कोर्सों के साथ जोड़ा गया है। इसे आईआईटी रुड़की के प्राध्यापक और अन्य विशेषज्ञों द्वारा पढ़ाया जाएगा। लाइव वीडियो के माध्यम से कक्षाओं को आॅनलाइन स्ट्रीम किया जाएगा। कोर्स पूरा होने पर यूजर्स को आईआईटी रुड़की से एक प्रमाण पत्र भी प्राप्त होगा। आईआईटी रुड़की के डीन (रिसर्च एंड इंडस्ट्रियल कंसल्टेंसी) मनीष श्रीकांडे ने कहा कि ह्लटेक्नोलॉजी आज भी तेजी से आगे बढ़ रही है और यह प्रोफेशनल्स के लिए अपने ज्ञान का विस्तार करने और नई तकनीकों को सीखने का सबसे अच्छा समय है।”

यह पहल छात्रों के साथ-साथ उन प्रोफेशनल्स के लिए लाभदायक होगा जो इस लॉकडाउन अवधि का उपयोग स्वयं को तकनीकी रूप से दक्ष बनाने में करना चाहते हैं।

Leave a Reply

Latest News

बॉन्ड से गन्ना खरीद पर विभाग ने फिर लगाई रोक

लक्सर से भाजपाईयों की मांग पर गन्ना राज्यमंत्री के नए आदेश के बाद गन्ना विभाग ने बॉन्ड से...

पुलिस को आया देख स्कूटी छोड़ भागे हमलावर

सभासद की दुकान पर उनके चचेरे भाई से दूसरे युवक की कहासुनी हो गई। बाद में युवक ने अपने साथियों को बुलवा लिया...

आग लगने से गेहूं और गन्ने की फसल जली

लक्सर क्षेत्र में गेहूं के खेत में लगी आग। - फोटो : ROORKEE ख़बर सुनें ख़बर सुनें क्षेत्र के दो अलग-अलग स्थानों पर आग...

अपराध संक्षेप

आरोप है कि ब्रैड पकोड़े लेने आए एक सिपाही ने 45 रुपये की जगह 30 रुपये दिए। बाद में जिरह के...

डीआईजी ट्रैफिक के आदेश पर ‘ग्रीन’ नहीं हुए सिग्नल

रुड़की में बंद पड़ी ट्रैफिक लाइटें। - फोटो : ROORKEE ख़बर सुनें ख़बर सुनें डीआईजी ट्रैफिक केवल खुराना निर्देश के छह माह बाद भी...

More Articles Like This