33केवीए लाइन पर गिरा तार, पूरा बिजलीघर बंद

Must Read

क्षत्रिय विकास महासभा उत्तराखंड ने किया पौधरोपण

रुड़की। पृथ्वीराज चौहान क्षत्रिय विकास महासभा उत्तराखंड ने नहर किनारे पौधरोपण किया। महासभा के अध्यक्ष यशवंत सिंह चौहान...


ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

रुड़की। हिमालयन बिजलीघर पर जा रही 33केवीए लाइन पर अचानक देवभूमि बिजलीघर की एक लाइन का तार टूटकर गिर गया। तार टूटने से बड़ा धमाका हुआ और बिजलीघर की सप्लाई ठप हो गई। बिजली सप्लाई ठप होने से इस बिजलीघर से जुुड़े करीब 16 हजार उपभोक्ताओं को भारी परेशानी उठानी पड़ी। देर रात तक लोग बिजली सप्लाई शुरू होने का इंतजार करते रहे।
शुक्रवार शाम करीब पांच हिमालयन बिजलीघर की लाइन में कुछ काम करने के लिए विभाग ने शटडाउन लिया हुआ था। ऐसे में लाइन बंद पड़ी हुई थी। काम खत्म होने के बाद शाम करीब छह बजे बिजलीघर से सप्लाई शुरू की गई तो लोगों ने राहत की सांस ली। चंद मिनट बाद ही हिमालयन बिजलीघर पर आ रही 33 केवीए हाईटेंशन लाइन पर इसके पास से ही गुजर रही नारसन स्थित देवभूमि बिजलीघर की एक लाइन का तार टूटकर गिर गया। हाईटेंशन लाइन पर तार टूटकर गिरने से तेज धमाका हुआ और तारों में चिंगारी उठनी शुरू हो गई। इसी दौरान फाल्ट आने पर हिमालयन बिजलीघर की क्षेत्र में जा रही सप्लाई ठप हो गई। इससे बिजलीघर से जुड़े करीब 16 हजार उपभोक्ताओं के घरों में अंधेरा छा गया। लोगों ने कुछ देर तक बिजली सप्लाई शुरू होने का इंतजार किया। बिजली नहीं आने पर उन्होंने अधिकारियों से संपर्क किया। तब उन्हें बिजली गुल होने का कारण पता चला। इस दौरान बिजली नहीं आने से लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। हालांकि बिजली ठप होने के बाद ऊर्जा निगम के अधिकारियों ने तार हटवाने का काम शुरू करवा दिया था। देर रात तक भी बिजली की सप्लाई शुरू नहीं हो पाई थी। मामले में एसडीओ अरशद का कहना है कि तार टूटने के बाद ही कर्मचारियों को काम पर लगा दिया था। हालांकि बारिश के चलते काम में थोड़ी बाधा जरूर आई।

रुड़की। हिमालयन बिजलीघर पर जा रही 33केवीए लाइन पर अचानक देवभूमि बिजलीघर की एक लाइन का तार टूटकर गिर गया। तार टूटने से बड़ा धमाका हुआ और बिजलीघर की सप्लाई ठप हो गई। बिजली सप्लाई ठप होने से इस बिजलीघर से जुुड़े करीब 16 हजार उपभोक्ताओं को भारी परेशानी उठानी पड़ी। देर रात तक लोग बिजली सप्लाई शुरू होने का इंतजार करते रहे।

शुक्रवार शाम करीब पांच हिमालयन बिजलीघर की लाइन में कुछ काम करने के लिए विभाग ने शटडाउन लिया हुआ था। ऐसे में लाइन बंद पड़ी हुई थी। काम खत्म होने के बाद शाम करीब छह बजे बिजलीघर से सप्लाई शुरू की गई तो लोगों ने राहत की सांस ली। चंद मिनट बाद ही हिमालयन बिजलीघर पर आ रही 33 केवीए हाईटेंशन लाइन पर इसके पास से ही गुजर रही नारसन स्थित देवभूमि बिजलीघर की एक लाइन का तार टूटकर गिर गया। हाईटेंशन लाइन पर तार टूटकर गिरने से तेज धमाका हुआ और तारों में चिंगारी उठनी शुरू हो गई। इसी दौरान फाल्ट आने पर हिमालयन बिजलीघर की क्षेत्र में जा रही सप्लाई ठप हो गई। इससे बिजलीघर से जुड़े करीब 16 हजार उपभोक्ताओं के घरों में अंधेरा छा गया। लोगों ने कुछ देर तक बिजली सप्लाई शुरू होने का इंतजार किया। बिजली नहीं आने पर उन्होंने अधिकारियों से संपर्क किया। तब उन्हें बिजली गुल होने का कारण पता चला। इस दौरान बिजली नहीं आने से लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। हालांकि बिजली ठप होने के बाद ऊर्जा निगम के अधिकारियों ने तार हटवाने का काम शुरू करवा दिया था। देर रात तक भी बिजली की सप्लाई शुरू नहीं हो पाई थी। मामले में एसडीओ अरशद का कहना है कि तार टूटने के बाद ही कर्मचारियों को काम पर लगा दिया था। हालांकि बारिश के चलते काम में थोड़ी बाधा जरूर आई।



Source link

Leave a Reply

Latest News

क्षत्रिय विकास महासभा उत्तराखंड ने किया पौधरोपण

रुड़की। पृथ्वीराज चौहान क्षत्रिय विकास महासभा उत्तराखंड ने नहर किनारे पौधरोपण किया। महासभा के अध्यक्ष यशवंत सिंह चौहान...

गाडा अंजुमन चुनाव बहिष्कार करेगी

भगवानपुर, संवाददाता। कस्बे में रविवार को ऑल इंडिया गाडा अंजुमन के बैनर तले आयोजित महापंचायत में छह सितम्बर को सहारनपुर में होने वाले...

More Articles Like This