सिविल अस्पताल में खुलेगी नवजात शिशुओं के इलाज की यूनिट

Must Read

ताकि न हो कांवड़ियों की हरकी पैड़ी में एंट्री, हरिद्वार बॉर्डर सील कर पुलिस का ये है प्लान 

कांवड़ यात्रा कैंसिल होने के बाद कांवडि़यों का प्रवेश रोकने के लिए हरिद्वार जिले की सीमाएं सील कर दी...

गलत नीतियों के कारण कांग्रेस जनता का खो चुकी है विश्वास: बंशीधर भगत

ख़बर सुनें ख़बर सुनें लक्सर/खानपुर। शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत ने कहा कि भाजपा ने कोरोनाकाल में गरीबों...

UKSSSC Forest Guard 2018 Physical Test Admit Card 2021: यूकेएसएसएससी ने वन कांस्टेबल पीईटी के लिए 2021 एडमिट कार्ड जारी किया, सीधा लिंक

UKSSSC Forest Guard 2018 Physical Test Admit Card 2021: उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा आयोग ने पोस्टकोड 102 वन कांस्टेबल शारीरिक...


ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

रुड़की। सिविल अस्पताल में नवजात शिशुओं के इलाज के लिए स्पेशल न्यूबोर्न केयर यूनिट खोली जाएगी। इसके लिए भवन तैयार किया जाएगा। इसके साथ ही ब्लड से प्लाज्मा को अलग करने की सुविधा भी विकसित की जाएगी। इसके लिए प्लाज्मा अफेरिसिस मशीन खरीदी जाएगी। विधायक मशीन की खरीद में आने वाला खर्च करीब 20 लाख अपनी निधि से देंगे। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में सिविल अस्पताल प्रबंधन की बैठक में 13 प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान कर दी गई है।
मंगलवार को सिविल अस्पताल रुड़की में जिलाधिकारी सी रविशंकर की अध्यक्षता में चिकित्सा प्रबंधन समिति की बैठक हुई। इसमें पिछली बैठक में पास किए गए प्रस्तावों की जानकारी दी गई। इसके बाद वित्तीय वर्ष 2020-21 के आय-व्यय का विवरण देखा गया। साथ ही वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट पर चर्चा की गई। विचार-विमर्श के बाद ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट के संचालन के लिए चार श्रमिकों की नियुक्ति के प्रस्ताव को फिलहाल रोक दिया गया। इसके लिए प्लांट तैयार होने के बाद अलग से प्रस्ताव भेजा जाएगा। ब्लड बैंक में ब्लड स्टोरेज के लिए एक रेफ्रिजरेटर क्रय करने पर सहमति बनी। चिकित्सालय परिसर की सीवर लाइन के स्थान पर जल संस्थान के माध्यम से नई सिविल लाइन डाले जाने का प्रस्ताव भी पास हुआ। चिकित्सालय की पानी की लाइनों एवं अस्पताल की विद्युत फिटिंग लाइन बदलने पर भी सहमति बनी। इसके अलावा अस्पताल में बन रहे आईसीयू वार्ड के संचालन के लिए जरूरी स्टाफ रखे जाने पर जिलाधिकारी ने कहा कि फिलहाल अस्पताल अपने स्तर पर ही इसे शुरू करें। जरूरत के हिसाब से स्टाफ की डिमांड के लिए प्रस्ताव अलग से भेजा जाए। चिकित्सालय में पानी की टंकी के पास 33 केवी के नए बिजलीघर बनाए जाने का प्रस्ताव भी पास कर दिया गया। अस्पताल में प्लाज्मा मशीन खरीदने के लिए विधायक प्रदीप बत्रा ने अपनी निधि से धनराशि देने की बात कही। इस दौरान विधायक प्रदीप बत्रा ने मोर्चरी में शवों को रखने के लिए फ्रीजर खरीदे जाने की जरूरत बताई। इस पर प्रक्रिया शुरू करने पर सहमति बनी। इस मौके पर जिलाधिकारी ने कहा कि सिविल अस्पताल रुड़की में काफी लोगों का इलाज होता है। ऐसे में यहां सुविधाएं बढ़ाकर प्रदेश स्तर का अस्पताल तैयार किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अस्पताल के पास पर्याप्त भूमि और भवन है। उनकी ओर से सुविधाएं बढ़ाने में हरसंभव मदद की जाएगी। इस मौके पर विधायक प्रदीप बत्रा, मेयर गौरव गोयल, सीएमओ डॉ. एसके झा, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अपूर्वा पांडेय, सीएमएस डॉ. संजय कंसल, कोषाधिकारी शैफाली गुप्ता व समाज सेवी अतिन कौशिक आदि मौजूद रहे।

रुड़की। सिविल अस्पताल में नवजात शिशुओं के इलाज के लिए स्पेशल न्यूबोर्न केयर यूनिट खोली जाएगी। इसके लिए भवन तैयार किया जाएगा। इसके साथ ही ब्लड से प्लाज्मा को अलग करने की सुविधा भी विकसित की जाएगी। इसके लिए प्लाज्मा अफेरिसिस मशीन खरीदी जाएगी। विधायक मशीन की खरीद में आने वाला खर्च करीब 20 लाख अपनी निधि से देंगे। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में सिविल अस्पताल प्रबंधन की बैठक में 13 प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान कर दी गई है।

मंगलवार को सिविल अस्पताल रुड़की में जिलाधिकारी सी रविशंकर की अध्यक्षता में चिकित्सा प्रबंधन समिति की बैठक हुई। इसमें पिछली बैठक में पास किए गए प्रस्तावों की जानकारी दी गई। इसके बाद वित्तीय वर्ष 2020-21 के आय-व्यय का विवरण देखा गया। साथ ही वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट पर चर्चा की गई। विचार-विमर्श के बाद ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट के संचालन के लिए चार श्रमिकों की नियुक्ति के प्रस्ताव को फिलहाल रोक दिया गया। इसके लिए प्लांट तैयार होने के बाद अलग से प्रस्ताव भेजा जाएगा। ब्लड बैंक में ब्लड स्टोरेज के लिए एक रेफ्रिजरेटर क्रय करने पर सहमति बनी। चिकित्सालय परिसर की सीवर लाइन के स्थान पर जल संस्थान के माध्यम से नई सिविल लाइन डाले जाने का प्रस्ताव भी पास हुआ। चिकित्सालय की पानी की लाइनों एवं अस्पताल की विद्युत फिटिंग लाइन बदलने पर भी सहमति बनी। इसके अलावा अस्पताल में बन रहे आईसीयू वार्ड के संचालन के लिए जरूरी स्टाफ रखे जाने पर जिलाधिकारी ने कहा कि फिलहाल अस्पताल अपने स्तर पर ही इसे शुरू करें। जरूरत के हिसाब से स्टाफ की डिमांड के लिए प्रस्ताव अलग से भेजा जाए। चिकित्सालय में पानी की टंकी के पास 33 केवी के नए बिजलीघर बनाए जाने का प्रस्ताव भी पास कर दिया गया। अस्पताल में प्लाज्मा मशीन खरीदने के लिए विधायक प्रदीप बत्रा ने अपनी निधि से धनराशि देने की बात कही। इस दौरान विधायक प्रदीप बत्रा ने मोर्चरी में शवों को रखने के लिए फ्रीजर खरीदे जाने की जरूरत बताई। इस पर प्रक्रिया शुरू करने पर सहमति बनी। इस मौके पर जिलाधिकारी ने कहा कि सिविल अस्पताल रुड़की में काफी लोगों का इलाज होता है। ऐसे में यहां सुविधाएं बढ़ाकर प्रदेश स्तर का अस्पताल तैयार किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अस्पताल के पास पर्याप्त भूमि और भवन है। उनकी ओर से सुविधाएं बढ़ाने में हरसंभव मदद की जाएगी। इस मौके पर विधायक प्रदीप बत्रा, मेयर गौरव गोयल, सीएमओ डॉ. एसके झा, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अपूर्वा पांडेय, सीएमएस डॉ. संजय कंसल, कोषाधिकारी शैफाली गुप्ता व समाज सेवी अतिन कौशिक आदि मौजूद रहे।



Source link

Leave a Reply

Latest News

ताकि न हो कांवड़ियों की हरकी पैड़ी में एंट्री, हरिद्वार बॉर्डर सील कर पुलिस का ये है प्लान 

कांवड़ यात्रा कैंसिल होने के बाद कांवडि़यों का प्रवेश रोकने के लिए हरिद्वार जिले की सीमाएं सील कर दी...

गलत नीतियों के कारण कांग्रेस जनता का खो चुकी है विश्वास: बंशीधर भगत

ख़बर सुनें ख़बर सुनें लक्सर/खानपुर। शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत ने कहा कि भाजपा ने कोरोनाकाल में गरीबों को मिलने वाली सरकारी राशन...

UKSSSC Forest Guard 2018 Physical Test Admit Card 2021: यूकेएसएसएससी ने वन कांस्टेबल पीईटी के लिए 2021 एडमिट कार्ड जारी किया, सीधा लिंक

UKSSSC Forest Guard 2018 Physical Test Admit Card 2021: उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा आयोग ने पोस्टकोड 102 वन कांस्टेबल शारीरिक दक्षता परीक्षा-2021 के लिए एडमिट...

रोटरी क्लब रुड़की सेंट्रल का स्थापना दिवस मनाया

रोटरी क्लब रुड़की सेंट्रल की ओर से नगर के एक होटल स्थापना दिवस समारोह मनाया गया। समारोह के चेयरमैन अचल मित्तल ने सभी...

किसान आंदोलन: संसद घेराव के लिए उत्तराखंड के सैकड़ों किसानों ने किया दिल्ली कूच, तस्वीरें

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हरिद्वार Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal Updated Thu, 22 Jul 2021 12:44 PM IST कृषि कानूनों के विरोध में...

More Articles Like This