रुड़की में दस करोड़ की लागत शुरू होगा हाईवे निर्माण का काम

Must Read

सड़क टूटने से आठ गांवों का आपस में संपर्क टूटा

इस्माइलपर व ओसपुर के बीच बने संपर्क मार्ग करीब दो मीटर का हिस्सा भरभराकर ध्वस्त हो... Source link

नाबालिग से कोर्ट मैरिज करने पहुंचे युवक को दबोचा

ख़बर सुनें ख़बर सुनें एक युवक को किशोरी के साथ कोर्ट मैरिज करने वकील के चेंबर पहुंचना महंगा...

चेतावनी के निशान से नीचे पहुंची गंगा

बुधवार को तो जलस्तर चेतावनी के निशान 293 मीटर से भी करीब बीस सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गया था।...


ख़बर सुनें

लोक निर्माण विभाग जल्द ही रुड़की से कोर कॉलेज तक का हाईवे चकाचक कराएगा। इसके लिए 10 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं। एक सप्ताह में निर्माण कार्य शुरू करने की बात कही जा रही है।
महाकुंभ के मद्देनजर अभी तक नेशनल हाईवे अथॉरिटी का जोर हाईवे फोरलेन और हाईवे बाईपास के निर्माण पर था। अब रुड़की हाईवे बाईपास और मंगलौर सालियर बाईपास का काम पूरा हो गया है। ऐसे में रुड़की से गुजर रहे हाईवे के नए सिरे से निर्माण कराने की योजना है। एनएचएआई की ओर से पहले ही धनराशि जारी कर दी गई थी। अब लोक निर्माण विभाग ने देहरादून की एक कंपनी को 10 करोड़ का टेंडर जारी कर दिया है। इसके तहत रुड़की से गुजर रहे हाईवे पर मंगलौर से कोर कॉलेज तक करीब 12 किलोमीटर में नए सिरे से हाईवे का निर्माण होगा। इससे महाकुंभ में रुड़की बाईपास छोड़कर शहर से भीतर की ओर प्रवेश करने वाले बाहरी प्रदेशों के यात्रियों को सुविधा होगी।
वन-वे के लिए महत्वपूर्ण
महाकुंभ के दौरान सहारनपुर और पंजाब से पहुंचने वाले वाहनों को अभी मंगलौर लंढौरा लक्सर मार्ग से होकर भेजा जा रहा है। रुड़की में हाईवे दुरुस्त होने के बाद ज्यादा भीड़ बढ़ने की दशा में इस हाईवे को वन वे के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे प्रशासन को यातायात संचालन कराने में सुविधा मिल सकेगी। साथ ही यात्रियों को लंबी दूरी तय करने से निजात मिलेगी।

दिल्ली हरिद्वार हाईवे पर मंगलौर से रुड़की और कोर कॉलेज तक हाईवे निर्माण के लिए 10 करोड़ की धनराशि का टेंडर देहरादून की एक कंपनी को जारी किया जा चुका है। एक सप्ताह में इसके निर्माण का कार्य शुरू करा दिया जाएगा।
-प्रवीण कुमार, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी

लोक निर्माण विभाग जल्द ही रुड़की से कोर कॉलेज तक का हाईवे चकाचक कराएगा। इसके लिए 10 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं। एक सप्ताह में निर्माण कार्य शुरू करने की बात कही जा रही है।

महाकुंभ के मद्देनजर अभी तक नेशनल हाईवे अथॉरिटी का जोर हाईवे फोरलेन और हाईवे बाईपास के निर्माण पर था। अब रुड़की हाईवे बाईपास और मंगलौर सालियर बाईपास का काम पूरा हो गया है। ऐसे में रुड़की से गुजर रहे हाईवे के नए सिरे से निर्माण कराने की योजना है। एनएचएआई की ओर से पहले ही धनराशि जारी कर दी गई थी। अब लोक निर्माण विभाग ने देहरादून की एक कंपनी को 10 करोड़ का टेंडर जारी कर दिया है। इसके तहत रुड़की से गुजर रहे हाईवे पर मंगलौर से कोर कॉलेज तक करीब 12 किलोमीटर में नए सिरे से हाईवे का निर्माण होगा। इससे महाकुंभ में रुड़की बाईपास छोड़कर शहर से भीतर की ओर प्रवेश करने वाले बाहरी प्रदेशों के यात्रियों को सुविधा होगी।

वन-वे के लिए महत्वपूर्ण

महाकुंभ के दौरान सहारनपुर और पंजाब से पहुंचने वाले वाहनों को अभी मंगलौर लंढौरा लक्सर मार्ग से होकर भेजा जा रहा है। रुड़की में हाईवे दुरुस्त होने के बाद ज्यादा भीड़ बढ़ने की दशा में इस हाईवे को वन वे के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे प्रशासन को यातायात संचालन कराने में सुविधा मिल सकेगी। साथ ही यात्रियों को लंबी दूरी तय करने से निजात मिलेगी।



दिल्ली हरिद्वार हाईवे पर मंगलौर से रुड़की और कोर कॉलेज तक हाईवे निर्माण के लिए 10 करोड़ की धनराशि का टेंडर देहरादून की एक कंपनी को जारी किया जा चुका है। एक सप्ताह में इसके निर्माण का कार्य शुरू करा दिया जाएगा।

-प्रवीण कुमार, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी



Source link

Leave a Reply

Latest News

सड़क टूटने से आठ गांवों का आपस में संपर्क टूटा

इस्माइलपर व ओसपुर के बीच बने संपर्क मार्ग करीब दो मीटर का हिस्सा भरभराकर ध्वस्त हो... Source link

नाबालिग से कोर्ट मैरिज करने पहुंचे युवक को दबोचा

ख़बर सुनें ख़बर सुनें एक युवक को किशोरी के साथ कोर्ट मैरिज करने वकील के चेंबर पहुंचना महंगा पड़ गया। सूचना पर पहुंची...

चेतावनी के निशान से नीचे पहुंची गंगा

बुधवार को तो जलस्तर चेतावनी के निशान 293 मीटर से भी करीब बीस सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गया था। जलस्तर में बढ़ोतरी को... Source link...

जेएम ने भवन की सील तोड़ने वालों पर दिए कार्रवाई के निर्देश

ख़बर सुनें ख़बर सुनें रुड़की। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अपूर्वा पांडेय ने बिना नक्शे के बन रहे भवनों की सील तोड़कर दोबारा निर्माण कार्य करने...

खरीद में स्थानीय उद्योगों को वरीयता दें

सामने समस्या खड़ी हुई है। सरकार ईज ऑफ द डूइंग बिजनेस मुहिम को लेकर धरातल पर काम करे।पीएचडी चैम्बर ऑफ... Source link

More Articles Like This