उत्तराखंड में कोरोना वैक्सीनेशन : टीकाकरण से क्षेत्र के लोग महरूम, हो रही बाहरी युवाओं की मौज

Must Read

आपदा में मारे गए लोगों की आत्मा की शांति के लिए भंडारा

वर्ष 2013 में केदारनाथ में आई आपदा एवं वर्तमान कोरोना महामारी में मृतकों आत्माओं की शांति हेतु दुर्गा...

कोरोना संक्रमण कम होते ही विकास कार्यो ने पकड़ी गति

निर्माण विभाग ने मालवीय चौक से गणेशपुर होते हुए रेलवे स्टेशन को जाने वाली सड़क का निर्माण कार्य...

सिविल अस्पताल में खुलेगी नवजात शिशुओं के इलाज की यूनिट

ख़बर सुनें ख़बर सुनें रुड़की। सिविल अस्पताल में नवजात शिशुओं के इलाज के लिए स्पेशल न्यूबोर्न केयर यूनिट...


सार

बुग्गावाला के वैक्सीनेशन सेंटर पर देहरादून, रुड़की और हरिद्वार से पहुंच रहे युवा, जानकारी और जागरुकता के अभाव में स्थानीय युवाओं को नहीं लग पा रहा टीका।

केंद्र पर क्षेत्र के मात्र पांच प्रतिशत युवाओं को ही अब तक टीका लगा है
– फोटो : बासित जरगर

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

हरिद्वार जिले के बुग्गावाला में गुरु तेग बहादुर इंटर कॉलेज में खोले गए वैक्सीनेशन सेंटर पर जहां स्थानीय लोग टीकाकरण से महरूम हैं तो वहीं देहरादून, हरिद्वार के अन्य इलाकों से और रुड़की से युवा इस केंद्र पर टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। तकनीकी जानकारी और जागरुकता के अभाव में स्थानीय युवाओं को वैक्सीन नहीं लग पा रही है। स्थिति ये है कि इस केंद्र पर क्षेत्र के मात्र पांच प्रतिशत युवाओं को ही अब तक टीका लगा है।

उत्तराखंड : लगतार बढ़ रहे हैं ब्लैक फंगस के केस, अब व्हाइट फंगस और एस्परजिलोसिस का भी खतरा

बुग्गावाला क्षेत्र के गुरु तेग बहादुर इंटर कॉलेज में 13 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु वालों का टीकाकरण शुरू हुआ था। तभी से इस सेंटर पर प्रतिदिन वैक्सीन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है। इस भीड़ को देखकर लगता है कि क्षेत्र के युवा वैक्सीनेशन को लेकर काफी उत्साहित हैं, लेकिन हकीकत इससे इतर है।

उत्तराखंड में कोरोना: एक हफ्ते में आधा हुआ कारोबार, कोविड दवाओं की बिक्री 50 फीसदी से ज्यादा घटी

स्थिति ये है कि इस केंद्र पर आए दिन मात्र पांच फीसदी स्थानीय युवाओं को वैक्सीन लग पा रही है जबकि 95 फीसदी बाहरी युवा टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। इनमें देहरादून, रुड़की, हरिद्वार और आसपास के लोग शामिल हैं। डॉ. गीता देवी के अनुसार, सारा खेल स्लॉट बुक करने का है। स्थानीय लोग जानकारी और जागरूकता के अभाव में स्लॉट बुक नहीं कर पाते। इसका फायदा बाहरी जिलों और क्षेत्र के युवा उठा लेते हैं। इससे स्थानीय युवा वैक्सीनेशन से महरूम हो रहेेेे हैं।

जानकारी के अभाव में स्थानीय युवाओं को मौका नहीं मिल रहा है। अब ग्रामीणों के स्लॉट बुक करने के लिए शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इसमें युवा शिक्षकों को अपनी जानकारी देकर स्लॉट बुक कराएंगे।
सुशील कुमार सैनी, तहसीलदार

खानपुर सीएचसी पर बाहरी लोगों को कोविड टीका लगाने से क्षेत्र के लोगों में आक्रोश पनप रहा है। सहकारी समिति के चेयरमैन और ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर टीकाकरण में क्षेत्रीय लोगों को प्राथमिकता देने की मांग की है।

खानपुर के राजेश पायलट मिनी स्टेडियम में वैक्सीनेशन केंद्र बनाया गया है। जब से यहां टीकाकरण शुरू हुआ है, ज्यादातर बाहरी लोग ही टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। ऐसे में क्षेत्रीय युवाओं को टीका नहीं लग पा रहा है। इसे लेकर खानपुर के लोगों में रोष पनपने लगा है।

सहकारी समिति के चेयरमैन ओंकार सिंह चौधरी, पूर्व प्रधान मदन शास्त्री, अरुण पंवार, सोनू राठी, सुमित शर्मा और मेहरबाद आदि ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर शिकायत की है। आरोप है कि स्वास्थ्य विभाग बाहरी प्रदेशों के लोगों से पैसे लेकर टीका लगा रहा है। इससे स्थानीय लोगों को वैक्सीन नहीं लग पा रही है।

आरोप है कि केंद्र पर दिल्ली, राजस्थान, मेरठ, देहरादून आदि शहरों से गाड़ियों में सवार होकर लोग टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्थानीय युवा जानकारी के अभाव में समय से स्लॉट बुक नहीं करवा पाता है। स्वास्थ्य विभाग लोगों को जागरूक करने के बजाय बाहरी लोगों को टीका लगवा रहा है।

इसे बरदाश्त नहीं किया जाएगा। वहीं, सेशन साइट व्यवस्थापक रामकेश गुप्ता कहते हैं कि बुकिंग केंद्र की गाइडलाइन के अनुसार होती है। इसमें ऑनलाइन कोई कहीं के लिए भी बुकिंग कर सकता है। स्थानीय युवाओं को जागरूक करके उन्हें स्लॉट बुक करने की जानकारी देने की जरूरत है।

विस्तार

हरिद्वार जिले के बुग्गावाला में गुरु तेग बहादुर इंटर कॉलेज में खोले गए वैक्सीनेशन सेंटर पर जहां स्थानीय लोग टीकाकरण से महरूम हैं तो वहीं देहरादून, हरिद्वार के अन्य इलाकों से और रुड़की से युवा इस केंद्र पर टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। तकनीकी जानकारी और जागरुकता के अभाव में स्थानीय युवाओं को वैक्सीन नहीं लग पा रही है। स्थिति ये है कि इस केंद्र पर क्षेत्र के मात्र पांच प्रतिशत युवाओं को ही अब तक टीका लगा है।

उत्तराखंड : लगतार बढ़ रहे हैं ब्लैक फंगस के केस, अब व्हाइट फंगस और एस्परजिलोसिस का भी खतरा

बुग्गावाला क्षेत्र के गुरु तेग बहादुर इंटर कॉलेज में 13 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु वालों का टीकाकरण शुरू हुआ था। तभी से इस सेंटर पर प्रतिदिन वैक्सीन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है। इस भीड़ को देखकर लगता है कि क्षेत्र के युवा वैक्सीनेशन को लेकर काफी उत्साहित हैं, लेकिन हकीकत इससे इतर है।

उत्तराखंड में कोरोना: एक हफ्ते में आधा हुआ कारोबार, कोविड दवाओं की बिक्री 50 फीसदी से ज्यादा घटी

स्थिति ये है कि इस केंद्र पर आए दिन मात्र पांच फीसदी स्थानीय युवाओं को वैक्सीन लग पा रही है जबकि 95 फीसदी बाहरी युवा टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। इनमें देहरादून, रुड़की, हरिद्वार और आसपास के लोग शामिल हैं। डॉ. गीता देवी के अनुसार, सारा खेल स्लॉट बुक करने का है। स्थानीय लोग जानकारी और जागरूकता के अभाव में स्लॉट बुक नहीं कर पाते। इसका फायदा बाहरी जिलों और क्षेत्र के युवा उठा लेते हैं। इससे स्थानीय युवा वैक्सीनेशन से महरूम हो रहेेेे हैं।

जानकारी के अभाव में स्थानीय युवाओं को मौका नहीं मिल रहा है। अब ग्रामीणों के स्लॉट बुक करने के लिए शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इसमें युवा शिक्षकों को अपनी जानकारी देकर स्लॉट बुक कराएंगे।

सुशील कुमार सैनी, तहसीलदार


आगे पढ़ें

बाहरी लोगों को टीका लगाने का विरोध



Source link

Leave a Reply

Latest News

आपदा में मारे गए लोगों की आत्मा की शांति के लिए भंडारा

वर्ष 2013 में केदारनाथ में आई आपदा एवं वर्तमान कोरोना महामारी में मृतकों आत्माओं की शांति हेतु दुर्गा...

कोरोना संक्रमण कम होते ही विकास कार्यो ने पकड़ी गति

निर्माण विभाग ने मालवीय चौक से गणेशपुर होते हुए रेलवे स्टेशन को जाने वाली सड़क का निर्माण कार्य शुरू कर... Source link

सिविल अस्पताल में खुलेगी नवजात शिशुओं के इलाज की यूनिट

ख़बर सुनें ख़बर सुनें रुड़की। सिविल अस्पताल में नवजात शिशुओं के इलाज के लिए स्पेशल न्यूबोर्न केयर यूनिट खोली जाएगी। इसके लिए भवन...

यूरिया न मिलने पर बहादरपुर में किसानों का धरना

पूरे जिले में इस समय यूरिया खाद को लेकर जबरदस्त मारामारी मची हुई है। रविवार शाम को इफको से रैक आने पर सभी... Source...

हज यात्रा 2021: हज यात्रियों को लगातार दूसरे साल लगा झटका, यात्रा हुई रद्द

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पिरान कलियर (रुड़की) Published by: अलका त्यागी Updated Mon, 14 Jun 2021 11:00 PM IST सार पिछले साल कोरोना के चलते...

More Articles Like This