उत्तराखंड में कोरोना वैक्सीनेशन : टीकाकरण से क्षेत्र के लोग महरूम, हो रही बाहरी युवाओं की मौज

Must Read

Roorkee News: पुलिया के नीचे मिला युवक का शव, गले पर गोली के निशान

एक युवक का शव पुलिया के नीचे पड़ा मिला है। युवक के गले पर गोली के निशान हैं। Source...

Telugu actor Hema granted conditional bail in Bengaluru rave party case

Telugu actor Hema, arrested in connection with the Bengaluru rave party case on June 3, was granted conditional...


सार

बुग्गावाला के वैक्सीनेशन सेंटर पर देहरादून, रुड़की और हरिद्वार से पहुंच रहे युवा, जानकारी और जागरुकता के अभाव में स्थानीय युवाओं को नहीं लग पा रहा टीका।

केंद्र पर क्षेत्र के मात्र पांच प्रतिशत युवाओं को ही अब तक टीका लगा है
– फोटो : बासित जरगर

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

हरिद्वार जिले के बुग्गावाला में गुरु तेग बहादुर इंटर कॉलेज में खोले गए वैक्सीनेशन सेंटर पर जहां स्थानीय लोग टीकाकरण से महरूम हैं तो वहीं देहरादून, हरिद्वार के अन्य इलाकों से और रुड़की से युवा इस केंद्र पर टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। तकनीकी जानकारी और जागरुकता के अभाव में स्थानीय युवाओं को वैक्सीन नहीं लग पा रही है। स्थिति ये है कि इस केंद्र पर क्षेत्र के मात्र पांच प्रतिशत युवाओं को ही अब तक टीका लगा है।

उत्तराखंड : लगतार बढ़ रहे हैं ब्लैक फंगस के केस, अब व्हाइट फंगस और एस्परजिलोसिस का भी खतरा

बुग्गावाला क्षेत्र के गुरु तेग बहादुर इंटर कॉलेज में 13 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु वालों का टीकाकरण शुरू हुआ था। तभी से इस सेंटर पर प्रतिदिन वैक्सीन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है। इस भीड़ को देखकर लगता है कि क्षेत्र के युवा वैक्सीनेशन को लेकर काफी उत्साहित हैं, लेकिन हकीकत इससे इतर है।

उत्तराखंड में कोरोना: एक हफ्ते में आधा हुआ कारोबार, कोविड दवाओं की बिक्री 50 फीसदी से ज्यादा घटी

स्थिति ये है कि इस केंद्र पर आए दिन मात्र पांच फीसदी स्थानीय युवाओं को वैक्सीन लग पा रही है जबकि 95 फीसदी बाहरी युवा टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। इनमें देहरादून, रुड़की, हरिद्वार और आसपास के लोग शामिल हैं। डॉ. गीता देवी के अनुसार, सारा खेल स्लॉट बुक करने का है। स्थानीय लोग जानकारी और जागरूकता के अभाव में स्लॉट बुक नहीं कर पाते। इसका फायदा बाहरी जिलों और क्षेत्र के युवा उठा लेते हैं। इससे स्थानीय युवा वैक्सीनेशन से महरूम हो रहेेेे हैं।

जानकारी के अभाव में स्थानीय युवाओं को मौका नहीं मिल रहा है। अब ग्रामीणों के स्लॉट बुक करने के लिए शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इसमें युवा शिक्षकों को अपनी जानकारी देकर स्लॉट बुक कराएंगे।
सुशील कुमार सैनी, तहसीलदार

खानपुर सीएचसी पर बाहरी लोगों को कोविड टीका लगाने से क्षेत्र के लोगों में आक्रोश पनप रहा है। सहकारी समिति के चेयरमैन और ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर टीकाकरण में क्षेत्रीय लोगों को प्राथमिकता देने की मांग की है।

खानपुर के राजेश पायलट मिनी स्टेडियम में वैक्सीनेशन केंद्र बनाया गया है। जब से यहां टीकाकरण शुरू हुआ है, ज्यादातर बाहरी लोग ही टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। ऐसे में क्षेत्रीय युवाओं को टीका नहीं लग पा रहा है। इसे लेकर खानपुर के लोगों में रोष पनपने लगा है।

सहकारी समिति के चेयरमैन ओंकार सिंह चौधरी, पूर्व प्रधान मदन शास्त्री, अरुण पंवार, सोनू राठी, सुमित शर्मा और मेहरबाद आदि ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर शिकायत की है। आरोप है कि स्वास्थ्य विभाग बाहरी प्रदेशों के लोगों से पैसे लेकर टीका लगा रहा है। इससे स्थानीय लोगों को वैक्सीन नहीं लग पा रही है।

आरोप है कि केंद्र पर दिल्ली, राजस्थान, मेरठ, देहरादून आदि शहरों से गाड़ियों में सवार होकर लोग टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्थानीय युवा जानकारी के अभाव में समय से स्लॉट बुक नहीं करवा पाता है। स्वास्थ्य विभाग लोगों को जागरूक करने के बजाय बाहरी लोगों को टीका लगवा रहा है।

इसे बरदाश्त नहीं किया जाएगा। वहीं, सेशन साइट व्यवस्थापक रामकेश गुप्ता कहते हैं कि बुकिंग केंद्र की गाइडलाइन के अनुसार होती है। इसमें ऑनलाइन कोई कहीं के लिए भी बुकिंग कर सकता है। स्थानीय युवाओं को जागरूक करके उन्हें स्लॉट बुक करने की जानकारी देने की जरूरत है।

विस्तार

हरिद्वार जिले के बुग्गावाला में गुरु तेग बहादुर इंटर कॉलेज में खोले गए वैक्सीनेशन सेंटर पर जहां स्थानीय लोग टीकाकरण से महरूम हैं तो वहीं देहरादून, हरिद्वार के अन्य इलाकों से और रुड़की से युवा इस केंद्र पर टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। तकनीकी जानकारी और जागरुकता के अभाव में स्थानीय युवाओं को वैक्सीन नहीं लग पा रही है। स्थिति ये है कि इस केंद्र पर क्षेत्र के मात्र पांच प्रतिशत युवाओं को ही अब तक टीका लगा है।

उत्तराखंड : लगतार बढ़ रहे हैं ब्लैक फंगस के केस, अब व्हाइट फंगस और एस्परजिलोसिस का भी खतरा

बुग्गावाला क्षेत्र के गुरु तेग बहादुर इंटर कॉलेज में 13 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु वालों का टीकाकरण शुरू हुआ था। तभी से इस सेंटर पर प्रतिदिन वैक्सीन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है। इस भीड़ को देखकर लगता है कि क्षेत्र के युवा वैक्सीनेशन को लेकर काफी उत्साहित हैं, लेकिन हकीकत इससे इतर है।

उत्तराखंड में कोरोना: एक हफ्ते में आधा हुआ कारोबार, कोविड दवाओं की बिक्री 50 फीसदी से ज्यादा घटी

स्थिति ये है कि इस केंद्र पर आए दिन मात्र पांच फीसदी स्थानीय युवाओं को वैक्सीन लग पा रही है जबकि 95 फीसदी बाहरी युवा टीका लगवाने पहुंच रहे हैं। इनमें देहरादून, रुड़की, हरिद्वार और आसपास के लोग शामिल हैं। डॉ. गीता देवी के अनुसार, सारा खेल स्लॉट बुक करने का है। स्थानीय लोग जानकारी और जागरूकता के अभाव में स्लॉट बुक नहीं कर पाते। इसका फायदा बाहरी जिलों और क्षेत्र के युवा उठा लेते हैं। इससे स्थानीय युवा वैक्सीनेशन से महरूम हो रहेेेे हैं।

जानकारी के अभाव में स्थानीय युवाओं को मौका नहीं मिल रहा है। अब ग्रामीणों के स्लॉट बुक करने के लिए शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इसमें युवा शिक्षकों को अपनी जानकारी देकर स्लॉट बुक कराएंगे।

सुशील कुमार सैनी, तहसीलदार


आगे पढ़ें

बाहरी लोगों को टीका लगाने का विरोध



Source link

Leave a Reply

Latest News

Roorkee News: पुलिया के नीचे मिला युवक का शव, गले पर गोली के निशान

एक युवक का शव पुलिया के नीचे पड़ा मिला है। युवक के गले पर गोली के निशान हैं। Source...

Telugu actor Hema granted conditional bail in Bengaluru rave party case

Telugu actor Hema, arrested in connection with the Bengaluru rave party case on June 3, was granted conditional bail on Wednesday.The NDPS Special...

Charity founder embezzled millions and spent on lavish meals: US | World News – The Indian Express

The head of a charity called Modest Needs was charged Tuesday with embezzling $2.5 million to rent a Columbus Circle high-rise, have cosmetic...

सुहागरात पर दूल्हे ने किया कुछ ऐसा, देखकर दुल्हन भागी कमरे से बाहर, और फिर…

हरिद्वार/पुलकित शुक्ला: हर लड़की की तरह हरिद्वार की एक लड़की ने भी अपनी शादी और जीवनसाथी को लेकर कई सपने संजोए थे. लेकिन...

More Articles Like This