Home Roorkee आईआईटी में बढआईआईटी में बढ़े कोरोना संक्रमित, घर गए छात्रों के प्रवेश...

आईआईटी में बढआईआईटी में बढ़े कोरोना संक्रमित, घर गए छात्रों के प्रवेश पर रोक

0


ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

आईआईटी में कोरोना संक्रमित छात्रों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। इसके बाद संस्थान प्रशासन ने घर गए छात्रों के लौटने पर फिलहाल पाबंदी लगा दी है। वहीं, संस्थान में सोमवार को दस नए छात्रों में कोरोना की पुष्टि हुई है। अब कोरोना संक्रमित छात्रों की संख्या बढ़कर 54 पहुंच गई है। इन सभी छात्रों को कोविड केयर सेंटर में उपचार दिया जा रहा है।
आईआईटी रुड़की के छात्रों में कोरोना संक्रमण फैलने के चलते चार हॉस्टलों को सील किया गया है। वहीं, रोज जांच में कोरोना संक्रमित छात्रों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। रविवार तक 44 छात्रों में कोरोना पुष्टि हो चुकी थी जबकि सोमवार को दस और छात्रों में कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके यह संख्या बढ़कर 54 पहुंच गई है, जिसमें 23 छात्राएं और 31 छात्र शामिल हैं। इसके अलावा कुछ फैकल्टी मेंबर और स्टाफ के लोगों में भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि बताई जा रही है। इसके बाद यह आंकड़ा 60 से अधिक हो जाता है। आईआईटी की मीडिया सेल प्रभारी सोनिका श्रीवास्तव ने बताया कि सभी का कोविड केयर सेंटर में उपचार चल रहा है। वहीं, घर गए छात्रों के संस्थान में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। उन्होंने बताया कि हालात सामान्य होने तक बाहर से आने वाले छात्रों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

अब तक 650 छात्रों की हो चुकी है जांच
आईआईटी में वर्तमान में तीन हजार छात्र हॉस्टल में रह रहे हैं। इनमें से अभी तक 650 छात्रों की कोरोना जांच हो चुकी है। सोनिका श्रीवास्तव ने बताया कि जिन छात्रों में लक्षण दिखाई दे रहे हैं, उन्हीं छात्रों का टेस्ट किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभी तक संस्थान में जितने भी छात्र, फैकल्टी और स्टाफ के लोगों को प्रवेश दिया गया है, उन सभी की संस्थान के नियमों के अनुसार, कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट ली गई है।

आईआईटी में भी खुला टीकाकरण केंद्र
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सोमवार को आईआईटी परिसर में भी टीकाकरण केंद्र खोल दिया। पहले ही दिन यहां करीब 100 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया। दरअसल, आईआईटी परिसर में अचानक कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ी है। इसके चलते आईआईटी में स्थित चार हॉस्टल को भी सील करना पड़ा। इसको देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने आईआईटी परिसर में टीकाकरण केंद्र खोला है। सिविल अस्पताल के प्रबंधक अंकित राणा ने बताया कि उम्मीद है कि अब धीरे-धीरे यहां भी वैक्सीन लगवाने वालों की संख्या बढ़ेगी।

आईआईटी में कोरोना संक्रमित छात्रों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। इसके बाद संस्थान प्रशासन ने घर गए छात्रों के लौटने पर फिलहाल पाबंदी लगा दी है। वहीं, संस्थान में सोमवार को दस नए छात्रों में कोरोना की पुष्टि हुई है। अब कोरोना संक्रमित छात्रों की संख्या बढ़कर 54 पहुंच गई है। इन सभी छात्रों को कोविड केयर सेंटर में उपचार दिया जा रहा है।

आईआईटी रुड़की के छात्रों में कोरोना संक्रमण फैलने के चलते चार हॉस्टलों को सील किया गया है। वहीं, रोज जांच में कोरोना संक्रमित छात्रों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। रविवार तक 44 छात्रों में कोरोना पुष्टि हो चुकी थी जबकि सोमवार को दस और छात्रों में कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके यह संख्या बढ़कर 54 पहुंच गई है, जिसमें 23 छात्राएं और 31 छात्र शामिल हैं। इसके अलावा कुछ फैकल्टी मेंबर और स्टाफ के लोगों में भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि बताई जा रही है। इसके बाद यह आंकड़ा 60 से अधिक हो जाता है। आईआईटी की मीडिया सेल प्रभारी सोनिका श्रीवास्तव ने बताया कि सभी का कोविड केयर सेंटर में उपचार चल रहा है। वहीं, घर गए छात्रों के संस्थान में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। उन्होंने बताया कि हालात सामान्य होने तक बाहर से आने वाले छात्रों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।



अब तक 650 छात्रों की हो चुकी है जांच

आईआईटी में वर्तमान में तीन हजार छात्र हॉस्टल में रह रहे हैं। इनमें से अभी तक 650 छात्रों की कोरोना जांच हो चुकी है। सोनिका श्रीवास्तव ने बताया कि जिन छात्रों में लक्षण दिखाई दे रहे हैं, उन्हीं छात्रों का टेस्ट किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभी तक संस्थान में जितने भी छात्र, फैकल्टी और स्टाफ के लोगों को प्रवेश दिया गया है, उन सभी की संस्थान के नियमों के अनुसार, कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट ली गई है।



आईआईटी में भी खुला टीकाकरण केंद्र

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सोमवार को आईआईटी परिसर में भी टीकाकरण केंद्र खोल दिया। पहले ही दिन यहां करीब 100 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया। दरअसल, आईआईटी परिसर में अचानक कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ी है। इसके चलते आईआईटी में स्थित चार हॉस्टल को भी सील करना पड़ा। इसको देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने आईआईटी परिसर में टीकाकरण केंद्र खोला है। सिविल अस्पताल के प्रबंधक अंकित राणा ने बताया कि उम्मीद है कि अब धीरे-धीरे यहां भी वैक्सीन लगवाने वालों की संख्या बढ़ेगी।



Source link

NO COMMENTS

Leave a Reply

Exit mobile version