अस्पताल में 256 की जांच, 25 लोग कोरोना संक्रमित

Must Read

आपदा में मारे गए लोगों की आत्मा की शांति के लिए भंडारा

वर्ष 2013 में केदारनाथ में आई आपदा एवं वर्तमान कोरोना महामारी में मृतकों आत्माओं की शांति हेतु दुर्गा...

कोरोना संक्रमण कम होते ही विकास कार्यो ने पकड़ी गति

निर्माण विभाग ने मालवीय चौक से गणेशपुर होते हुए रेलवे स्टेशन को जाने वाली सड़क का निर्माण कार्य...

सिविल अस्पताल में खुलेगी नवजात शिशुओं के इलाज की यूनिट

ख़बर सुनें ख़बर सुनें रुड़की। सिविल अस्पताल में नवजात शिशुओं के इलाज के लिए स्पेशल न्यूबोर्न केयर यूनिट...


ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

रविवार को रुड़की क्षेत्र में 334 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसमें रुड़की क्षेत्र के 266, सिविल अस्पताल में किए गए एंटीजन टेस्ट में 25, नारसन बॉर्डर पर 27 और भगवानपुर के मंडावर बॉर्डर पर 16 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। बॉर्डर पर संक्रमित पाए गए लोगों को वापस भेज दिया गया है। जबकि अन्य को स्वास्थ्य विभाग की ओर से घर और कोविड केयर सेंटर पर आईसोलेट कर दिया गया है।
शहर और देहात में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग का फोकस अधिक से अधिक जांच पर है। इसे देखते हुए संडे कर्फ्यू के बाद भी सिविल अस्पताल में कोरोना जांच की गई। रविवार को अस्पताल में 256 लोगों के सैंपल लिए गए। इनमें से 114 रैपिड एंटीजन और 142 आरटीपीसीआर सैंपल शामिल हैं। इनमें से 25 लोग कोरोना संक्रमित आए हैं। जबकि 142 लोगों के सैंपल लैब भेजे गए हैं। इसके अलावा रुड़की क्षेत्र में 266 कोरोना संक्रमित लोग पाए गए हैं। इनमें मात्र आईआईटी रुड़की के ही 71 छात्र और फैकल्टी के लोग शामिल हैं। वहीं नारसन बॉर्डर पर बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के किए गए एंटीजन टेस्ट में 27 लोग संक्रमित पाए गए। इन्हें तुरंत वाहनों के साथ वापस भेज दिया गया है। इसके अलावा भगवानपुर के मंडावर चेकपोस्ट पर किए गए एंटीजन टेस्ट में 16 लोग पॉजिटिव पाए गए। इन्हें भी प्रदेश में प्रवेश नहीं दिया गया और वापस भेज दिया गया। सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि लोगों के संपर्क में आने वालों को चिह्नित किया जा रहा है।
गोवर्धनपुर के कंटेनमेंट जोन में सर्वेक्षण
खानपुर। रविवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गोवर्धनपुर में बनाए गए कंटेनमेंट जोन के छह परिवारों के लोगों का स्वास्थ्य सर्वेक्षण किया। इस दौरान किसी में भी कोरोना के लक्षण नहीं मिले। गोवर्धनपुर गांव की एक महिला गांव में स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका छात्रावास में भोजनमाता है। 15 अप्रैल को स्वास्थ्य विभाग की जांच में वह कोरोना पाजिटिव पाई गई थी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने भोजनमाता के परिवार के छह सदस्यों के सैंपल लिए थे, उनकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी। इस पर पूरे मोहल्ले को कंटेनमेंट जोन घोषित कर सील कर दिया गया। रविवार को सीएचसी प्रभारी डॉ. विनित कुमार के निर्देश पर टीम ने कंटेनमेंट जोन में घर-घर जाकर लोगों का स्वास्थ्य सर्वेक्षण किया। टीम ने 29 लोगों की जांच की, जांच में कोई पॉजिटिव नहीं मिला। वहीं, छात्रावास की 19 छात्राओं में कोरोना की पुष्टि होने के बाद इनके साथ पढ़ रहे सभी बच्चों की भी जांच की जा रही है। सीएचसी प्रभारी डॉ. विनित कुमार ने बताया कि प्रहलादपुर माजरी, बालचंदवाला, लालचंदवाला, रोहालकी, भारूवाला, नियामतपुर, असगरपुर, याहियापुर, कर्णपुर, महेश्वरा, धर्मुपुर व सिकंदरपुर के लगभग ढाई सौ बच्चे स्कूल में पढ़ रहे हैं। सीएचसी की तीन टीमों को अलग अलग गांव में भेजकर कोरोना की जांच कराई जा रही है।

रविवार को रुड़की क्षेत्र में 334 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसमें रुड़की क्षेत्र के 266, सिविल अस्पताल में किए गए एंटीजन टेस्ट में 25, नारसन बॉर्डर पर 27 और भगवानपुर के मंडावर बॉर्डर पर 16 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। बॉर्डर पर संक्रमित पाए गए लोगों को वापस भेज दिया गया है। जबकि अन्य को स्वास्थ्य विभाग की ओर से घर और कोविड केयर सेंटर पर आईसोलेट कर दिया गया है।

शहर और देहात में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग का फोकस अधिक से अधिक जांच पर है। इसे देखते हुए संडे कर्फ्यू के बाद भी सिविल अस्पताल में कोरोना जांच की गई। रविवार को अस्पताल में 256 लोगों के सैंपल लिए गए। इनमें से 114 रैपिड एंटीजन और 142 आरटीपीसीआर सैंपल शामिल हैं। इनमें से 25 लोग कोरोना संक्रमित आए हैं। जबकि 142 लोगों के सैंपल लैब भेजे गए हैं। इसके अलावा रुड़की क्षेत्र में 266 कोरोना संक्रमित लोग पाए गए हैं। इनमें मात्र आईआईटी रुड़की के ही 71 छात्र और फैकल्टी के लोग शामिल हैं। वहीं नारसन बॉर्डर पर बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के किए गए एंटीजन टेस्ट में 27 लोग संक्रमित पाए गए। इन्हें तुरंत वाहनों के साथ वापस भेज दिया गया है। इसके अलावा भगवानपुर के मंडावर चेकपोस्ट पर किए गए एंटीजन टेस्ट में 16 लोग पॉजिटिव पाए गए। इन्हें भी प्रदेश में प्रवेश नहीं दिया गया और वापस भेज दिया गया। सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि लोगों के संपर्क में आने वालों को चिह्नित किया जा रहा है।

गोवर्धनपुर के कंटेनमेंट जोन में सर्वेक्षण

खानपुर। रविवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गोवर्धनपुर में बनाए गए कंटेनमेंट जोन के छह परिवारों के लोगों का स्वास्थ्य सर्वेक्षण किया। इस दौरान किसी में भी कोरोना के लक्षण नहीं मिले। गोवर्धनपुर गांव की एक महिला गांव में स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका छात्रावास में भोजनमाता है। 15 अप्रैल को स्वास्थ्य विभाग की जांच में वह कोरोना पाजिटिव पाई गई थी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने भोजनमाता के परिवार के छह सदस्यों के सैंपल लिए थे, उनकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी। इस पर पूरे मोहल्ले को कंटेनमेंट जोन घोषित कर सील कर दिया गया। रविवार को सीएचसी प्रभारी डॉ. विनित कुमार के निर्देश पर टीम ने कंटेनमेंट जोन में घर-घर जाकर लोगों का स्वास्थ्य सर्वेक्षण किया। टीम ने 29 लोगों की जांच की, जांच में कोई पॉजिटिव नहीं मिला। वहीं, छात्रावास की 19 छात्राओं में कोरोना की पुष्टि होने के बाद इनके साथ पढ़ रहे सभी बच्चों की भी जांच की जा रही है। सीएचसी प्रभारी डॉ. विनित कुमार ने बताया कि प्रहलादपुर माजरी, बालचंदवाला, लालचंदवाला, रोहालकी, भारूवाला, नियामतपुर, असगरपुर, याहियापुर, कर्णपुर, महेश्वरा, धर्मुपुर व सिकंदरपुर के लगभग ढाई सौ बच्चे स्कूल में पढ़ रहे हैं। सीएचसी की तीन टीमों को अलग अलग गांव में भेजकर कोरोना की जांच कराई जा रही है।



Source link

Leave a Reply

Latest News

आपदा में मारे गए लोगों की आत्मा की शांति के लिए भंडारा

वर्ष 2013 में केदारनाथ में आई आपदा एवं वर्तमान कोरोना महामारी में मृतकों आत्माओं की शांति हेतु दुर्गा...

कोरोना संक्रमण कम होते ही विकास कार्यो ने पकड़ी गति

निर्माण विभाग ने मालवीय चौक से गणेशपुर होते हुए रेलवे स्टेशन को जाने वाली सड़क का निर्माण कार्य शुरू कर... Source link

सिविल अस्पताल में खुलेगी नवजात शिशुओं के इलाज की यूनिट

ख़बर सुनें ख़बर सुनें रुड़की। सिविल अस्पताल में नवजात शिशुओं के इलाज के लिए स्पेशल न्यूबोर्न केयर यूनिट खोली जाएगी। इसके लिए भवन...

यूरिया न मिलने पर बहादरपुर में किसानों का धरना

पूरे जिले में इस समय यूरिया खाद को लेकर जबरदस्त मारामारी मची हुई है। रविवार शाम को इफको से रैक आने पर सभी... Source...

हज यात्रा 2021: हज यात्रियों को लगातार दूसरे साल लगा झटका, यात्रा हुई रद्द

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पिरान कलियर (रुड़की) Published by: अलका त्यागी Updated Mon, 14 Jun 2021 11:00 PM IST सार पिछले साल कोरोना के चलते...

More Articles Like This