मोहम्मदपुर सहकारी समिति के पूर्व सचिव पर मुकदमा दर्ज, विभाग द्वारा की गई शैक्षिक प्रमाणपत्रों की जांच में पाई गई गड़बड़ी

रुड़की । शैक्षिक प्रमाणपत्रों में गड़बड़ी के आरोपी मोहम्मदपुर बुजुर्ग सहकारी समिति के पूर्व सचिव के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।पूर्व में समिति संचालक मंडल के एक सदस्य की शिकायत पर विभाग द्वारा की गई जांच में गड़बड़ी की पुष्टि हो चुकी है। इसके बाद सदस्य ने पुलिस को इसकी तहरीर दी थी। अंबेडकरनगर (उत्तर प्रदेश) के रहने वाले श्याम नारायण यादव पुत्र रामदेव यादव निवासी फिलहाल पनियाला रोड रुड़की में रह रहे हैं। वर्ष 1980 में वे लक्सर की किसान सेवा सहकारी समिति मोहम्मदपुर बुजुर्ग में टीओ (तकनीकी अधिकारी) नियुक्त हुए थे।बाद में पदोन्नति देकर उन्हें सचिव बनाया गया था। हाल ही में समिति के एक निदेशक रजनीश कुमार ने विभाग से शिकायत की थी कि निलंबित सचिव की जन्मतिथि 1957 है। इस लिहाज से उन्हें 2017 में सेवानिवृत्त होना चाहिए था, जबकि उन्होंने अपने शैक्षिक दस्तावेजों में काटछांट कर जन्मतिथि 1959 कर ली है। इस कारण साठ साल उम्र होने के बाद भी वे अभी तक सेवानिवृत्त नहीं हुए हैं।जिला सहायक निबंधक ने अपर जिला सहकारी अधिकारी आरएस पाल से प्रकरण की जांच कराई। जांच में शिकायत की पुष्टि हुई। जांच अधिकारी ने अपनी रिपोर्ट में पूर्व सचिव के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की संस्तुति की थी। संस्तुति के बाद रजनीश ने पुलिस को इसकी तहरीर दी थी। तहरीर मिलने के पंद्रह दिन बाद पुलिस ने घटना का मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाल विरेंद्र सिंह नेगी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है। उधर, आरोपी श्याम नारायण यादव का कहना है कि सेवानिवृत्त करना विभाग का काम है। वर्ष 2017 में सेवानिवृत्त होने की तिथि के बाद से उन्होंने न तो किसी समिति में अपनी उपस्थिति दर्ज की है और न ही विभग से इसके बाद का वेतन लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *