उत्तराखंड भाकियू अंबावत की बागडोर हाजी राव इरशाद को सौंपी, प्रदेश प्रभारी बनाया गया ,जल्द होगा कार्यकारिणी का गठन

रुड़की । किसान नेता हाजी राव इरशाद को भारतीय किसान यूनियन अंबावत उत्तराखंड की कमान सौंपी गई है। उन्हें संगठन का प्रदेश प्रभारी बनाया गया है। जल्द प्रदेश कार्यकारिणी गठित करने के लिए कहा गया है। भाकियू अंबावत के अध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल सिंह अंबावत ने पिछले दिनों उत्तराखंड भाकियू अंबावत की कार्यकारिणी को पिछले दिनों भंग कर दिया था। उन्होंने प्रदेश के साथ ही जिला इकाई भी भंग कर दी थी। इसके बाद से ही भाकियू अंबावत के मजबूत प्रदेश नेतृत्व के लिए तलाश हो रही थी। काफी किसानों और भारतीय किसान यूनियन अंबावत के सक्रिय सदस्यों से सलाह मशविरा करने के बाद भाकियू अंबावत अध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल अंबावत ने हाजी राव इरशाद को प्रदेश संगठन का प्रभारी नियुक्त किया है। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने प्रदेश प्रभारी से कहा है कि वह जल्द से जल्द प्रदेश व जिला कार्यकारिणी का गठन करें। इसके बाद ब्लॉक तहसील कार्यकारिणी गठित कर किसानों की समस्याओं को हल कराने का काम किया जाए । भारतीय किसान यूनियन अंबावत के राष्ट्रीय अध्यक्ष ऋषिपाल अंबावत ने प्रदेश संगठन प्रभारी हाजी राव इरशाद से कहा है की पहले तहसील स्तर पर पंचायत बुलाई जाए और इसके बाद जिला स्तर और फिर प्रदेश स्तर पर किसानों की बड़ी पंचायत की जाए । खेतीबाड़ी से जुड़े सभी मुद्दे उठाए जाएं । सरकार पर दबाव बनाया जाए ताकि किसानों की सभी समस्याएं समय रहते हल हो सके। प्रदेश प्रभारी की कमान संभालने के बाद हाजी राव इरशाद ने कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता संगठन को गांव स्तर पर मजबूत करने की रहेगी। सभी क्षेत्रों में कार्यकारिणी को सक्रिय किया जाएगा गन्ना किसानों की समस्या को प्रमुखता से उठाया जाएगा। इसके लिए आंदोलन किया जाएगा ।उन्होंने कहा कि किसानों की अन्य भी काफी समस्याएं हैं। जिन्हें हल कराने के लिए आंदोलन भी होगा और प्रदेश सरकार से वार्ता भी की जाएगी। 10 अक्टूबर को प्रशासनिक निरीक्षण भवन में एक बड़ी पंचायत होगी । जहां पर सभी किसानों से सलाह मशविरा करने के बाद प्रदेश कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा। प्रदेश अध्यक्ष की बागडोर किसी सूझबूझ वाले किसान नेता को सौंपी जाएगी उनके साथ उपाध्यक्ष ,महासचिव, संगठन मंत्री ,प्रचार मंत्री सभी जिम्मेदार पदाधिकारी सूझबूझ वाले ही बनाए जाएंगे। संगठन में एक प्रखर वक्ता जोड़े जाएंगे ताकि किसानों की समस्या को प्रिंट मीडिया सोशल मीडिया इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर प्रमुखता से उठाया जा सके। किसानों के बेटों को सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों में नौकरी दिलाई जाएगी । आज उन्होंने काफी किसानों से बातचीत भी की । पिरान कलियर व भगवानपुर क्षेत्र के कई गांवों का दौरा भी किया। इस दौरान किसानों की समस्याएं दर्ज की गई। अधिकतर किसानों की समस्याएं बिजली और चकबंदी संबंधी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *