मामूली कहासुनी होने पर चले लाठी-डंडे पूर्व सभासद समेत कई घायल, दो अन्य अलग अलग घटनाओं में एक दर्जन से अधिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज

 

रुड़की ।      लंढौरा में मामूली कहासुनी को लेकर दो पक्षों में संघर्ष हो गया। इसमें जमकर लाठी-डंडे चले। मारपीट में पूर्व सभासद समेत तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया है। शनिवार रात को मोहल्ला अंबेडकर निवासी संजीव और पूर्व सभासद के भाई विक्रम के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। मामला बढ़ने पर दोनों पक्ष के लोग लाठी-डंडों से लैस होकर आपस में भिड़ गए। मारपीट में पूर्व सभासद नरेश जाटव और उनका भाई विक्रम लहूलुहान होकर गंभीर रूप से घायल हो गए। बीच बचाव में पड़ोसी मिलकेश भी घायल हो गया। पूर्व सभासद और उसके भाई को गंभीर चोट आने के कारण एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया है। वहीं दूसरी ओर रंजिश के चलते की गई मारपीट के आरोप में सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार राजकुमार पुत्र विशंभर सिंह निवासी ग्राम ढोला माजरा थाना कोतवाली मंगलौर ने तहरीर देकर बताया कि 23 अगस्त की शाम को उसका पुत्र बबलू घर से सामान लेने के लिए झबरेड़ा बाजार जा रहा था। रास्ते में कुछ लड़के खड़े थे। उसके साथ छेड़छाड़ की लेकिन वह चुपचाप निकल गया। आरोप है कि शाम के समय जब उसका पुत्र सामान लेकर वापस लौट रहा था तो आरोपी पहले से ही घात लगाए बैठे थे और उन्होंने मिलकर उसके पुत्र पर हमला कर दिया। ग्रामीणों को देख आरोपी जान से मारने की धमकी देते हुए मौके से फरार हो गये। घायल को चिकित्सकों ने हायर सेंटर रेफर कर दिया जहां पर उसका उपचार किया जा रहा है। तहरीर के आधार पर पुलिस ने नितेश, सतीश, राहुल, प्रवीण, बंजारा, धर्मेंद्र, अनुज निवासी ग्राम सढोला माजरा थाना कोतवाली मंगलौर के खिलाफ बलवे की धाराओं में मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू की है। इसके अलावा युवक की आत्महत्या के मामले में लक्सर के आदर्श कालोनी निवासी कदीर अहमद के तीन बेटे हैं। उनके सबसे छोटे बेटे समीर की सात माह पहले सीमली मोहल्ले के शमशाद की बेटी साहिबा के साथ हुई थी। 2 जुलाई को समीर ने पारिवारिक कारणों से जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली थी। घटना के बाद से युवक के पिता और ससुर के बीच विवाद बना हुआ है। पुलिस ने मृतक के पिता कदीर की तहरीर पर मृतक की पत्नी साहिबा, ससुर शमशाद, सास मेहरबान, साली रुखसार और शहनाज, साले बबलू पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा कायम किया था। इसके साथ ही पुलिस ने मृतक के ससुर शमशाद की तरफ से इसी घटना का एक और मुकदमा कायम कर लिया है। दूसरे मुकदमे में मृतक के पिता कदीर, मां रुखसाना, भाई सगीर व गया सुद्दीन और भाभी गुलशन को आरोपी बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *