लालढ़ांग में वनाधिकार आंदोलन कार्यक्रम का आयोजन, पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा वन गुर्जरों की समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया तो होगा आंदोलन

 

लालढ़ांग ।       लालढांग क्षेत्र में वनाधिकार आंदोलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें वन गुर्जर परिवारों ने 2006 में लागू किए गए वनाधिकार कानून के तहत लाभ दिए जाने की मांग उठाई। गैंडीखाता स्थित बाउली साहिब गुरुद्वारा में वनाधिकार के लिए आंदोलन किया गया। कार्यक्रम में कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय बतौर मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे। किशोर उपाध्याय ने कहा कि वनों से लाई जाने वाली लकड़ी पर सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया। फसलों को जंगली जानवर नष्ट कर देते हैं, लेकिन उनका उचित मुआवजा नहीं मिलता। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में रह रहे परिवारों को एक माह में एक सिलेंडर नि:शुल्क मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने वन गुर्जरों की समस्याओं पर ध्यान नही दिया तो जल्द आंदोलन शुरू किया जाएगा। कांग्रेसी नेता गुरजीत लहरी ने कहा कि 2006 में वनाधिकार कानून तत्कालीन उत्तराखंड सरकार ने बना दिया था। लेकिन अभी तक भी सरकार ने उसे लागू नहीं किया। जल्द कानून को लागू करते हुए लोगों को उनका हक हकूक मिलना चाहिए। अध्यक्षता सुनील नेगी ने की। इस दौरान शमशेर भड़ाना, जाकिर, खुर्शीद भड़ाना, राजेश सिंह, जशदीप सिंह, मो. यामीन, लियाकत अली, रफी, नजाकत अली आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *