उत्तर प्रदेश – उत्तराखंड के पूर्व सीएम एनडी तिवारी के पुत्र रोहित शेखर का हृदय गति रुकने से निधन, पिछले साल हुई थी शादी

 

देहरादून ।      उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे दिवगंत एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी का मंगलवार शाम निधन हो गया। 40 वर्षीय रोहित को तबियत खराब होने पर एंबुलेंस से शाम करीब 4 बजकर 41 मिनट पर साकेत स्थित मैक्स अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में डॉक्टरों ने जांच की तो रोहित ब्रेन डेड पाए गए। बताया जा रहा है कि अस्पताल में रोहित की मां उज्जवला और पत्नी अपूर्वा शुक्ला भी मौजूद थीं। डिफेंस कॉलोनी थाना पुलिस के अनुसार कुछ दिन पहले भी रोहित तिवारी को हार्ट अटैक आया था। शुरुआती जांच में पुलिस के अधिकारियों को मौत से जुड़ा कोई संदेह नहीं लग रहा है। पुलिस का कहना है कि रोहित तिवारी की मौत हार्ट अटैक आने से हुई है। मंगलवार शाम उनके कमरे में जब घर का नौकर खाना देने पहुंचा तो उसने बिस्तर पर लेटे रोहित के मुंह से खून आते देखा था। साथ ही तकिए पर भी खून जमा हुआ पाया गया है। बावजूद इसके दिल्ली पुलिस की ओर से संभावना जताई जा रही है कि रोहित तिवारी के शव का पोस्टमार्टम एम्स के मेडिकल बोर्ड से बुधवार को कराया जा सकता है। इसके बाद ही परिजनों को शव सौंपा जाएगा। हालांकि खबर लिखे जाने तक मृतक रोहित तिवारी का शव और परिजन मैक्स अस्पताल में ही मौजूद थे। दरअसल डीएनए जांच के बाद रोहित को एनडी तिवारी के बेटे के रुप में कोर्ट से मान्यता मिली थी। साल 2008 में रोहित ने कोर्ट में एनडी तिवारी के बेटे होने का दावा किया था, इस मामले को खारिज करने के लिए एनडी तिवारी की ओर से अपील भी की गई थी, एक लंबी सुनवाई के बाद कोर्ट ने डीएनए जांच के बाद फैसला सुनाया। पिछले वर्ष 18 अक्तूबर को एनडी तिवारी का निधन हुआ था। 11 मई 2018 को मध्यप्रदेश की अपूर्वा शुक्ला के साथ रोहित तिवारी वैवाहिक बंधन में बंधे थे। हाल ही में लोकसभा चुनाव के पहले मतदान में उन्होंने अपनी मां उज्जवला के साथ नैनीताल में वोट भी दिया था। साथ ही इस दौरान उन्होंने कांग्रेस उम्मीवार हरीश रावत के पक्ष में ही मतदान करने और भविष्य में कांग्रेस के साथ ही सियासी राह पर चलने की घोषणा की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *