कोलकाता घटनाक्रम के विरोध में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकालकर लाठीचार्ज की घटना की निंदा की

 

देहरादून ।    कोलकाता में भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो पर हुए पथराव, आगजनी और लाठीचार्ज की घटना का भाजपाईयों ने विरोध किया। भाजपाईयों ने मुंह पर काली पट्टी बांधकर मौन जुलूस निकाला और घटना के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया। आक्रोशित भाजपाईयों ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। बुधवार को भाजपाई परेड ग्राउंड स्थित महानगर कार्यालय में एकत्र हुए। यहां मुंह पर काली पट्टी बांधकर मौन जुलूस निकाला। जुलूस कनक चौक, एस्लेहॉल चौक होते हुए गांधी पार्क पहुंचा। यहां राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने भाजपाईयों सांकेतिक धरना दिया। पत्रकारों से बातचीत में प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल ने कहा कि बंगाल में अराजकता अपने चरम पर है और लोकतंत्र खतरे में है। वहां स्वयं मुख्यमंत्री ही स्थानीय पुलिस को अराजक होने के निर्देश दे रही है। विश्व की सबसे बड़ी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को भी रैली निकालने पर विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ता है। महानगर अध्यक्ष विनय गोयल ने कहा कि घटना के विरोध में देश की सभी राजधानियों में आज मुंह पर पट्टी बांधकर भाजपा द्वारा विरोध किया जा रहा है। उत्तराखंड में भी कार्यकर्ताओं में भारी आक्रोश है। जनता इस चुनाव में ऐसे लोगों को सबक सिखाएगी। वहीं दूसरी ओरभारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला उपाध्यक्ष नरेश शर्मा ने कहा कि पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या करने पर तृणमूल कांग्रेस आमादा है। पश्चिम बंगाल में भाजपा के बढ़ते जनाधार और जीत की प्रबल संभावना और टीएमसी की जमीन खिसकती देख वहां की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बौखला कर भाजपा के कार्यक्रमों में बवाल करा रही हैं। कनखल में पार्टी की बैठक में पूर्व जिला उपाध्यक्ष नरेश शर्मा ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भाजपा जीत रही है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान हमला और आगजनी कराना, इसका परिचायक है कि टीएमसी हार के डर से भयभीत है। जय श्रीराम का नारा लगाने वालों पर मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है। मंडल अध्यक्ष देवेंद्र मनवाल ने कहा कि आज पश्चिम बंगाल ही नहीं पूरे देश में भाजपा जीतेगी। बैठक में तरुण वालिया, कुलदीप वालिया, अनिल मिश्रा, सुभम वालिया, दीपक राजपूत, अंकित चौहान, अरविद कुमार, पं लक्ष्मी नारायण शास्त्री आदि मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *